Bihar Board Class 12th Political Science Notes Chapter 6 अन्तराष्ट्रीय संगठन

Bihar Board Class 12th Political Science Notes Chapter 6 अन्तराष्ट्रीय संगठन

→ संयुक्त राष्ट्र संघ को विश्व का सबसे महत्त्वूपर्ण अन्तर्राष्ट्रीय संगठन माना जाता है। इसे यू०एन० के नाम से भी जाना जाता है।

→ संयुक्त राष्ट्र संघ विश्व भर के लोगों की नजर में शान्ति और प्रगति के प्रति मानवता की आशा का प्रतीक है।

→ प्रथम विश्वयुद्ध के पश्चात् विश्व के कुछ प्रमुख देशों ने मिलकर एक अन्तर्राष्ट्रीय संगठन ‘राष्ट्र संघ’ की स्थापना की। लेकिन यह संगठन द्वितीय विश्वयुद्ध को रोकने में असफल रहा।

→ राष्ट्र संघ के उत्तराधिकारी के रूप में संयुक्त राष्ट्र संघ की स्थापना 24 अक्टूबर, 1945 को की गई।

→ संयुक्त राष्ट्र संघ का प्रमुख उद्देश्य अन्तर्राष्ट्रीय झगड़ों को रोकना एवं राष्ट्रों के मध्य सहयोग स्थापित करना है।

→ संयुक्त राष्ट्र संघ का मुख्यालय न्यूयॉर्क में स्थित है। वर्तमान में इसके सदस्यों की संख्या 193 है। दक्षिणी सूडान 193वाँ सदस्य (2011) बना है।

→ संयुक्त राष्ट्र संघ के प्रमुख अंग हैं—महासभा या आमसभा, सुरक्षा परिषद्, अन्तर्राष्ट्रीय न्यायालय, सचिवालय, आर्थिक और सामाजिक परिषद् एवं न्यासिता परिषद्।

→ संयुक्त राष्ट्र संघ का सबसे महत्त्वपूर्ण अंग सुरक्षा परिषद् है जिसके 5 स्थायी तथा 10 अस्थायी सदस्य होते हैं।

→ संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद् के स्थायी सदस्यों को वीटो शक्ति (अधिकार) प्राप्त है।

→ अन्तर्राष्ट्रीय न्यायालय में 15 सदस्य होते हैं जो महासभा तथा सुरक्षा परिषद् द्वारा निर्वाचित किए जाते हैं।

→ आर्थिक व सामाजिक मुद्दों पर कार्यान्वयन के लिए संयुक्त राष्ट्र संघ की अनेक एजेन्सियाँ हैं। इनमें मुख्य हैं-विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO), संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम (UNDP), संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार आयोग (UNHRC), संयुक्त राष्ट्र संघ शरणार्थी उच्चायोग (UNHCR), संयुक्त राष्ट्र संघ बालकोष (UNICEF), संयुक्त राष्ट्र संघ शैक्षणिक, वैज्ञानिक एवं सांस्कृतिक संगठन (UNESCO) आदि।

→ संयुक्त राज्य अमेरिका एवं पश्चिमी देश संयुक्त राष्ट्र संघ के बजट से जुड़ी प्रक्रियाओं एवं इसके प्रशासन में सुधार चाहते हैं।

→ संयुक्त राष्ट्र संघ का प्रधान महासचिव होता है। एण्टोनियो गुटेरेस (1 जनवरी, 2017 से) संयुक्त राष्ट्र संघ के महासचिव हैं।

→ भारत स्वयं सुरक्षा परिषद् का स्थायी सदस्य बनना चाहता है।

→ पाकिस्तान जैसे देश संयुक्त राष्ट्र संघ में वीटोधारी स्थायी सदस्य के रूप में भारत की सदस्यता का विरोध कर रहे हैं।

→ सोवियत संघ के विघटन के बाद विश्व की एकमात्र महाशक्ति रह जाने के बाद संयुक्त राज्य अमेरिका अपनी सैन्य एवं आर्थिक शक्ति के बल पर संयुक्त राष्ट्र संघ की अनदेखी कर सकता है।

→ यद्यपि एक-ध्रुवीय विश्व में संयुक्त राष्ट्र संघ, संयुक्त राज्य अमेरिका पर नियन्त्रण नहीं लगा सकता, लेकिन संयुक्त राष्ट्र संघ, संयुक्त राज्य अमेरिका एवं शेष विश्व के बीच विभिन्न मुद्दों पर बातचीत स्थापित कर सकता है।

→ अन्तर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) वैश्विक स्तर पर वित्त व्यवस्था की देखरेख करता है।

→ विश्व बैंक अपने सदस्य देशों को आसान शर्तों पर ऋण व अनुदान देता है।

→ विश्व व्यापार संगठन वैश्विक व्यापार के नियमों को निर्धारित करता है।

→ एमनेस्टी इण्टरनेशनल एक स्वयंसेवी संगठन है जो सम्पूर्ण विश्व में मानवाधिकारों की रक्षा के लिए
अभियान चलाता है।

→ अन्तर्राष्ट्रीय आण्विक ऊर्जा एजेन्सी परमाण्विक ऊर्जा के शान्तिपूर्ण उपयोग को बढ़ावा देने एवं सैन्य उद्देश्यों में इसके उपयोग को रोकने का प्रयास करती है।

→ ह्यूमन राइट्स वाच संयुक्त राज्य अमेरिका का सबसे बड़ा अन्तर्राष्ट्रीय मानवाधिकार संगठन है जो मानवाधिकारों का समर्थन एवं उनसे सम्बन्धित अनुसन्धान करता है।

→ संयक्त राष्ट्र संघ-24 अक्टूबर, 1945 को स्थापित एक अन्तर्राष्ट्रीय संगठन, जिसका मुख्य उद्देश्य अन्तर्राष्ट्रीय झगड़ों को रोकना एवं राष्ट्रों के मध्य सहयोग की राह दिखाना है।

→ अन्तर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष-यह वैश्विक स्तर पर वित्त व्यवस्था की देखभाल करने वाला संगठन है जो माँगे जाने पर वित्तीय एवं तकनीकी सहायता उपलब्ध कराता है।

→ विश्व व्यापार संगठन-1 जनवरी, 1995 को स्थापित एक अन्तर्राष्ट्रीय संगठन। यह वैश्विक व्यापार के नियमों को निर्धारित करता है।

→ अन्तर्राष्ट्रीय आण्विक ऊर्जा एजेन्सी-सन् 1957 में स्थापित यह संगठन परमाण्विक ऊर्जा के शान्तिपूर्ण उपयोग को बढ़ावा देने तथा सैन्य उद्देश्यों में इसके प्रयोग को रोकने का प्रयास करता है।

→ एमनेस्टी इण्टरनेशनल-यह एक गैर-सरकारी संगठन है जो अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर मानवाधिकारों के संरक्षण हेतु कार्य करता है।

→ ह्यूमन राइट्स वाच-यह संयुक्त राज्य अमेरिका का सबसे बड़ा अन्तर्राष्ट्रीय मानवाधिकार संगठन है जो विश्व मीडिया का ध्यान मानवाधिकारों के उल्लंघन की तरफ खींचता है।

→ चार्टर–संयुक्त राष्ट्र संघ का अपना संविधान है, जिसे ‘चार्टर’ कहा जाता है।

→ वीटो (निषेधाधिकार)-वीटो का शाब्दिक अर्थ है-मैं मना करता हूँ।

→ विश्व बैंक—मुख्य रूप से विकासशील देशों को आसान शर्तों पर ऋण एवं अनुदान देने वाला अन्तर्राष्ट्रीय बैंक। इसकी स्थापना सन् 1945 में की गयी।

→ बान की मून-दक्षिण कोरिया के बान की मून संयुक्त राष्ट्र संघ के आठवें महासचिव थे। सन् 1971 के बाद इस पद को सुशोभित करने वाले मून पहले एशियाई व्यक्ति हैं। वर्तमान में एण्टोनियो गुटेरस महासचिव हैं।

→ ट्राइग्व ली–नार्वे निवासी, संयुक्त राष्ट्र संघ के प्रथम महासचिव। इन्होंने कश्मीर को लेकर भारत और ‘ पाकिस्तान के बीच ह में युद्ध विराम के लिए प्रयास किए।

→ डेग हैमरशोल्ड-स्वीडन निवासी, संयुक्त राष्ट्र संघ के द्वितीय महासचिव। इन्होंने स्वेज नहर से जुड़े विवाद को सुलझाने एवं अफ्रीका के औपनिवेशीकरण के लिए कार्य किया।

→ यू थांट-म्यांमार निवासी, संयुक्त राष्ट्र संघ के तीसरे महासचिव रहे। इन्होंने क्यूबा के मिसाइल संकट के समाधान एवं कांगो संकट की समाप्ति के प्रयास किए।

→ बुतरस बुतरस घाली-मित्र निवासी, संयुक्त राष्ट्र संघ के छठे महासचिव। इन्होंने मोजाम्बिक में संयुक्त राष्ट्र संघ का सफल अभियान चलाया।

→ कोफी ए० अन्नान-घाना निवासी, संयुक्त राष्ट्र संघ के सातवें महासचिव। इन्होंने अमेरिकी नेतृत्व में इराक पर हुए हमले को अवैध करार दिया। इन्हें 2001 का नोबेल शान्ति पुरस्कार प्रदान किया गया।

Bihar Board Class 12th Political Science Notes

Leave a Comment